Google+ Badge

Friday, 9 June 2017

तमाशा तक़दीर का

बदलना चाहती थी अपनी तक़दीर को 
पर देख तमाशा तक़दीर का मुझे ही बदल डाला

शीरीं मंसूरी 'तस्कीन'

No comments:

Post a Comment