Google+ Badge

Sunday, 4 June 2017

होने के बावजूद भी

आज सब कुछ होने के बावजूद भी
ज़िन्दगी में खालीपन सा महसूस हो रहा है शायद मेरे दोस्त मुझे तेरी कमी खल रही है
I really miss you dost

शीरीं मंसूरी 'तस्कीन'


No comments:

Post a Comment